क्या आपको हमेशा अपने भविष्य की चिंता सताती रहती है? तो जरा एकांत में सोचें यह बात....



हर इंसान में अपने भविष्य को जानने की लालसा होना स्वाभाविक बात है। लेकिन कोई भविष्यवाणियां कहां तक सच होगी यह कह पाना किसी के लिए संभव नहीं है। लेकिन अकसर यह देखने में आया है कि ज्यादातर लोग अपनी भविष्य की चिंता में किसी के द्वारा की गई भविष्यवाणी पर विश्वास कर बैठतें हैं और अपने जीवन के अहम पल को जीने व अहम फैसले लेने में हिचकते हैं जिसके परिमामस्वरुप अपना बहुत बड़ा नुकसान कर बैठते हैं।

 भविष्यवाणी की दुकान चलाने के लिए बाबा व ज्योतिषी काफी तांमझांम करते हैं

आजकल तो भविष्यवाणी करना और हस्तरेखा का ज्ञान बहुत बड़ा व्यापार बनकर उभर रहा है। लोगों को उन पर विश्वास हो इसलिए ऐसे लोग काफी तांमझांम करते हैं। तमाम तरह की मालाऐं, पुस्तकें, पत्थर और मूॅंगे मोतियों को अपने पास रख करके ऐसा माहौल बनाते हैं जिससे लगे कि ज्योतिषी जी कोई बहुत बड़े  सिद्ध महापुरुष हैं। वास्तव में यह सब  लोग आम जनमानस को  धर्म व पाखंड के माध्यम से छलने कर ज्योतिषी व बाबा अपनी मोटी संपत्ति बना लेते हैं। लेकिन भविष्य बेचने वाले ये व्यापारी यह नहीं जानते कि भविष्य बताकर यह सामान्य जिज्ञासा वाले आदमी का वर्तमान किस तरह बर्बाद कर रहे हैं। यदि भविष्य में कुछ अनहोनी बतायी जाती है तो इसका अर्थ यह है कि वर्तमान में भय और शंका के जाल में फंसे रहना। यदि भविष्य में किसी व्यक्ति को बड़ा पद और समृद्धि दिखाई जाती है तो उसका अर्थ यह है कि वह वर्तमान से खुश नहीं चल रहा है।

एकल परिवार की कहानी हर घर की कहानी बनती जा रही है

भोले-भाले अन्धविश्वासी व्यक्तियों की कमजोरी का लाभ धूर्त ज्योतिषी, भविष्य बताने वाले और तान्त्रिक लोग करते हैं। इनकी भविष्यवाणियों से कभी-कभी भावुक ह्दय व्यक्तियों को बहुत आघात लगता है। एक महिला अपने बेटे के विवाह की तैयारी में तनमन से जुटी थी। बहू के स्वागत की तैयारियॉ जोर-शोर से चल रहीं थी। उसी समय उसके एक सम्बंधी ने भविष्यवाणी की कि शादी के बाद तुम्हारा बेटा बदल जायेगा और तुम्हारा साथ नहीं देगा। आमतौर पर सभी जानते हैं कि बहू बेटे का मॉं-बाप से अलग रहना अब आम बात हो गयी है। क्योंकि आधुनिकता इस की दौड़ में कदमताल ढोकने के चक्कर में एक संयुक्त परिवार में रह रहे व्यक्ति को मजबूरन एकाकी परिवार की ओर मुख मोड़ना पड़ता है। माता-पिता से अलग रहना धीरे-धीरे एक परम्परा का रूप लेती जा रहा है। दुर्भाग्यवश यह एकल परिवार की कहानी हर घर की कहानी बनती जा रही है। पर यह बात इस अवसर पर कहना किसी के दिल को दुखाने के अलावा और कुछ नहीं है। इस घटना में मजे की बात यह है कि जिस बेटे के बारे में यह भविष्य वाणी की गई थी वह आज भी अपने माता-पिता के साथ रह रहा है तथा बेटे बहू को माता-पिता का पूरा सहयोग व प्यार मिल रहा है। 

भविष्य जानकर अपना वर्तमान न बर्बाद करें

यह तो थी एक आम भविष्यवाणी की बात है, किन्तु कुछ लोग इससे भी भयानक भविष्यवाणियों कर जाते हैं, जो कि किसी को अंदर तक दहला कर रख देती है। मेरे एक मित्र ने एक लड़की का हाथ देखकर बताया कि वह विवाह के बाद विधवा हो जायेगी। यह भविष्यवाणी उस समय की गई थी जब उसके विवाह की तैयारियां शुरू हो रही थी।  विवाह तो हुआ पर भय और विशाद की छाया आज तक उनके जीवन में घर कर गई है। मान लीजिये आप सच जानते भी है तो उसे असमय व्यक्त करके दूसरे व्यक्ति के खुशी के क्षणों पर हमला न करें। जो होगा वह तो सामने आयेगा ही। उसे पहले से किसी को बताकर आप उसका वर्तमान का सुख चैन भी छीन लेते हैं और भविष्य गर्त की ओर ढ़केल देते हैं।

कभी किसी को अपने हाथ न दिखाएं

सर्वप्रथम तो किसी को अपना हाथ ही न दिखायें और यदि दिखायें भी तो उससे ऐसी कोई भविष्यवाणी करने को न कहे जिससे आपका वर्तमान प्रभावित हो रहा हो। भविष्य वक्ता को भी इस तरह की कोई भविष्यवाणी नहीं करनी चाहिये, जिससे भविष्य की चिन्ता में लोगों का वर्तमान का सुख चैन भी छिन जार्ये। यदि आप सच भी जानते हैं तो भी भविष्य में होने वाली किसी बुरी घटना का उल्लेख न करें। कई घटनाएं ऐसी भी हो चुकी हैं, जिनमें अपनी मौत की तारीख बता दी जाने पर आदमी ने घबराया हुआ होकर असमय में ही प्राण दिये हैं और भविष्य वक्ता सच्चा साबित हो गया है। भविष्य जानने की इच्छा तभी तक ठीक है, जब तक वह आपके वर्तमान को प्रभावित न होनें दे अन्यथा वह सब बेकार है।

भविष्य वक्ता की भविष्यवाणी पर कभी विश्वास करें

वैसे भी वर्तमान की व्यस्त जिंदगी में आदमी कुछ ही पल चैन से बिता पाता है। सामान्यतः वह महंगाई, बीमारी, परिवार की ढेरों चिंताओं में रहता है। भविष्य जानकर अपने वर्तमान के सुख चैन के दो चार पल भी वह भविष्य की चिंता में बिता देता है। यह कटु सत्य है कि भविष्यवाणियां आदमी को बहुत अधिक प्रभावित करती है। कितना भी कठोर व दृढ़ निश्चय व्यक्ति हो, वह भी भविष्य की चिंता से विचलित हो सकता है। अंत में यही निष्कर्ष निकलता है कि कभी भी भविष्य जानने की इच्छा न रखें और न ही किसी भी भविष्य वक्ता की भविष्यवाणी पर विश्वास करें। #

***

टिप्पणी पोस्ट करें